Published on: Wednesday August, 4th 2021

अबू हुरैरा -अल्लाह उनसे प्रसन्न हो- कहते हैं कि अल्लाह के रसूल -सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम- ने फ़रमायाः "लोग सोने चाँदी के खदान की तरह खदान हैं। जो लोग जाहिलियत में बेहतर थे, वे इस्लाम में भी बेहतर हैं, यदि इस्लाम की समझ प्राप्त कर लें। सारे प्राण एकत्र सेना थे; जिस-जिस ने वहाँ एक-दूसरे को पहचाना, वह दुनिया में एक-दूसरे से प्रेम रखते हैं, और जिस-जिस ने वहाँ एक-दूसरे की पहचान न की, वह यहाँ एक-दूसरे से बेगाना रहते हैं।

«من خَرج في طلب العلم فهو في سَبِيلِ الله حتى يرجع». [الترمذي]

Other languages

English French Turkish Russian Chinese Español

Other hadith

read quran
478673
1883
Friday July, 16th 2021
No envy except in two (cases)
843356
1863
Friday July, 16th 2021
The believer
477076
1931
Friday July, 16th 2021

Why Islam

is the fastest growing religion in the world?!

Popular cards